दिल्ली की महिला ने कहा कि लॉकडाउन में त्रिशंकु के मरने के बजाय कोविद 19 कोरोनावायरस से मरना बेहतर है – दिल्ली में लॉकडाउन से परेशान महिला बोली


कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। कई हिस्सों में लोगों को इससे परेशानी भी हो रही है। केंद्र और प्रदेश की सरकारें लोगों को हरसंभव राहत पहुंचाने में जुटी हुई है। लॉकडाउन के कारण सबसे ज्यादा परेशानी दिहाड़ी मजदूरों को हो रही है। कई लोग भूख से परेशान हैं।

दिल्ली के फतेहपुर बेरी की रहने वाली राजवती भी उनमें से एक है। वह मजदूरी कर अपने परिवार का खर्चा चलाती है। राजवती का कहना है कि हम बिना खाना और पानी के जीने के लिए मजबूर हैं। उन्होंने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

न्यूज एजेंसी से एएनआई से बात करते हुए राजवती ने कहा, 'मकान मालिक के लिए सार्वजनिक करना है। बिजली बिल भी देना पड़ता है। हमारे पास खाने का एक दाना तक नहीं है, हम कहां से खा रहे हैं। पानी आ रहा था, जिसे पीकर हम जिंदा हैं। अब वो भी बंद हो गया। ' राजवती ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि हमें या फिर हमारे गांव भिजवा दें या फिर साधन दें। उन्होंने कहा कि हम भूके मर जाते हैं, इससे अच्छा यह है कि इस बीमारी (कोरोना) से मर जाओ।

बिहार की रहने वाली समीमा का कहना है कि हमरे बच्चे बीते दो दिनों से पानी पीकर रह रहे हैं। मकान मालिक किराये की माँ है। मैं सरकार से ममद की पारितंत्र करता हूं।

दिहाड़ी मजदूरों को पांच हजार रुपए दिल्ली सरकार देगी
कोरोना के खिलाफ लड़ाई में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को ऐलान किया कि दिल्ली सरकार दिहाड़ी मजदूरों को पांच हजार रुपये देगी। उन्होंने कहा कि यह सबसे ज्यादा प्रभावशाली कामगार तबका ही है, इसलिए सरकार ने यह निर्णय लिया है। दिल्ली में नाइट शेल्टर की संख्या भी बढ़ाने की बात कही गई, ताकि किसी को पैसे के कारण खुले में रहने को मजबूर न होना पड़े।

आवश्यक सामान देने वालों के लिए दिल्ली में ई-पास
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में आवश्यक सामान देने वालों के लिए ई-पास बनाने की कल घोषणा की। उन्होंने कहा कि दूध, सब्जी, किराने की दुकान, दवा की दुकान चलाने वाले 1031 पर फोन करके ई-पास बनवा सकते हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजवरील ने बताया कि जरूरी काम से जुड़े उन सभी लोगों का ई-पास बनाया जाएगा, जिनके पास आईडी कार्ड नहीं हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिनके पास अपना आर्डडी कार्ड है, उनके पास ई पास की जरूरत नहीं है। लेकिन कई ऐसे लोग होते हैं जिनके पास कोई आर्डडी नहीं होता है। ऐसे लोगों को हम ई-पास करेंगे।





Source link