आयोजकों को टोक्यो ओलंपिक के बाद स्पोर्ट्स विलेज अपार्टमेंट के बारे में चिंता होने के कारण Covid19 के कारण स्थगित कर दिया गया – ओलिंपिक होने से खेलगांव को लेकर नई दुविधा, महंगे आपत्ति को लेकर बढ़े आयोजकों की चिंता


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
अपडेटेड थू, 26 मार्च 2020 07:23 AM IST

ख़बर सुनता है

टोक्यो बे के सामने बने सैकड़ों आलीशान अपार्टमेंटों में जुलाई अगस्त में जमकर रौनक लगने वाली थी लेकिन अब ओलंपिक विज्ञापन होने से आयोजकों के सामने नई दुविधा पैदा हो गई है। कारण खेलगांव के ये महंगे अपार्टमेंट पहले ही पास हैं। इस खेलगांव में 11000 खिलाड़ियों को रहना था। शहर का अद्भुत नजारा दिखाते इन अपार्टमेंट में कुछ फ्लैट की कीमत 15 लाख डॉलर (लगभग 11.40 करोड़ रुपये) तक है। अब उन्हें खरीदने वालों के सामने अनिश्चितता की स्थिति बन गई है।

शोधकर्ताओं के अनुबंध को खंगालने में जुट गए हैं कि कैसे सुरक्षा जमा गंवाए बिना उन्हें पैसा वापस मिल जाए। टोक्यो रसीद सेंट्रल की निदेशक जो वार्ड ने कहा, इससे लोगों को इससे बड़ी असुविधा होगी। समझौते में लिखा है कि प्राकृतिक आपदा या विक्रेता के नियंत्रण के बाहर की चीजें इस वर्ग में आईगी। ’सलाहकार फर्म ओरागा रिसर्च के सीईओ और रसीद विशेषज्ञ तोमोहिरो माकिनो ने कहा, गिरने कीमत गिरने के बारे में भी चिंता है। ओल को लेकर रोमांच और उत्साह खत्म होने के बाद हालात खराब हो जाएंगे। अभी तक उपलब्ध रद्द होने की चिंता भी है।)

सार

  • खेलगांव में बने यह महंगे आपर्टमेंट पहले ही बिक चुके हैं
  • 11.40 करोड़ रुपये की कीमत कुछ है

विस्तार

टोक्यो बे के सामने बने सैकड़ों आलीशान अपार्टमेंटों में जुलाई अगस्त में जमकर रौनक लगने वाली थी लेकिन अब ओलंपिक विज्ञापन होने से आयोजकों के सामने नई दुविधा पैदा हो गई है। कारण खेलगांव के ये महंगे अपार्टमेंट पहले ही पास हैं। इस खेलगांव में 11000 खिलाड़ियों को रहना था। शहर का अद्भुत नजारा दिखाते इन अपार्टमेंट में कुछ फ्लैट की कीमत 15 लाख डॉलर (लगभग 11.40 करोड़ रुपये) तक है। अब उन्हें खरीदने वालों के सामने अनिश्चितता की स्थिति बन गई है।

शोधकर्ताओं के अनुबंध को खंगालने में जुट गए हैं कि कैसे सुरक्षा जमा गंवाए बिना उन्हें पैसा वापस मिल जाए। टोक्यो रसीद सेंट्रल की निदेशक जो वार्ड ने कहा, इससे लोगों को इससे बड़ी असुविधा होगी। समझौते में लिखा है कि प्राकृतिक आपदा या विक्रेता के नियंत्रण के बाहर की चीजें इस वर्ग में आईगी। ’सलाहकार फर्म ओरागा रिसर्च के सीईओ और रसीद विशेषज्ञ तोमोहिरो माकिनो ने कहा, गिरने कीमत गिरने के बारे में भी चिंता है। ओल को लेकर रोमांच और उत्साह खत्म होने के बाद हालात खराब हो जाएंगे। अभी तक उपलब्ध रद्द होने की चिंता भी है।)



Source link